उज्जैन- सात दिवस में अपने काम में प्रगति लायें, अन्यथा अधिकारियों का वेतन काटा जायेगा, जमीन आवंटन के प्रकरणों का निराकरण समय-सीमा में करें, कोविड में ‘रोको-टोको’ अभियान चलाया जाये, कलेक्टर ने समयावधि-पत्रों की विभागवार समीक्षा की

0 59

सात दिवस में अपने काम में प्रगति लायें, अन्यथा अधिकारियों का वेतन काटा जायेगा, जमीन आवंटन के प्रकरणों का निराकरण समय-सीमा में करें, कोविड में ‘रोको-टोको’ अभियान चलाया जाये, कलेक्टर ने समयावधि-पत्रों की विभागवार समीक्षा की

उज्जैन 27 दिसम्बर। कलेक्टर श्री आशीष सिंह ने सिंहस्थ मेला कार्यालय के सभाकक्ष में समयावधि-पत्रों की विभागवार समीक्षा कर सम्बन्धित जिला अधिकारियों एवं राजस्व अधिकारियों को समय-सीमा में प्रकरणों का निराकरण करने के निर्देश दिये। सात दिवस में अपने काम में अधिकारी प्रगति लायें, अन्यथा सम्बन्धित अधिकारियों के विरूद्ध कार्यवाही की जाकर उनके वेतन में से सात दिन का वेतन काटा जायेगा, जिनकी जिम्मेदारी स्वयं की रहेगी। कलेक्टर ने राजस्व अधिकारियों को निर्देश दिये कि जमीन आवंटन के प्रकरणों का निराकरण यथासंभव समय-सीमा में किया जाये, ताकि सम्बन्धित विभाग को काम आ सके। वर्तमान में ओमिक्रॉन वेरियेंट विदेशों में अधिक केस मिल रहे हैं। इसी तरह भारत में भी केस मिलना प्रारम्भ हो गये हैं। इसलिये हम सब सावधान रहकर हर हालत में ओमिक्रॉन वेरियेंट को रोकने के लिये यथासंभव प्रयास अनिवार्य रूप से किया जाये। कलेक्टर ने निर्देश दिये हैं कि गत कोविड-19 में स्थिति को संभाला है, उसी तरह हमें सावधानी बरतते हुए रोको टोको अभियान चलाया जाये।

समयावधि-पत्रों की समीक्षा में सीएम हेल्पलाइन एवं लोक सेवा प्रदाय गारंटी अधिनियम में लम्बित प्रकरणों की समीक्षा के दौरान उज्जैन तहसील के नायब तहसीलदार श्री योगेश मेश्राम के कार्य क्षेत्रान्तर्गत अधिक आवेदन-पत्र समय-सीमा बाहर से दिखाई दे रहे थे। इस सम्बन्ध में कलेक्टर श्री आशीष सिंह ने अधिनियम के प्रावधानों के अनुसार जुर्माना करने के निर्देश दिये हैं। इसी तरह बैठक में समस्त विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि सीएम हेल्पलाइन एवं लोक सेवा प्रदाय गारंटी अधिनियम कमें प्राप्त शिकायतों एवं आवेदन-पत्रों का समय-सीमा में निराकरण करने को कहा है। आदेश का पालन नहीं करने पर सम्बन्धित अधिकारियों के विरूद्ध नियमानुसार कार्यवाही की जाकर जुर्माने के रूप में सम्बन्धित का वेतन काटने के निर्देश दिये हैं। कलेक्टर ने इस सम्बन्ध में सभी अधिकारियों को निर्देश दिये कि प्रत्येक टीएल में इसकी समीक्षा की जायेगी।

समयावधि-पत्रों की समीक्षा बैठक के दौरान कलेक्टर ने सर्वप्रथम स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ-साथ राजस्व विभाग के अनुविभागीय अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे अस्पतालों को व्यवस्थित कर जिन अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट लगे हैं, उन्हें चेक कर लिया जाये। ओमिक्रॉन वेरियेंट को हल्के में न लें। अभी से सम्पूर्ण तैयारी कर ली जाये। होम आइसोलेशन के लिये जरूरतमन्द दवाईयों के पैकेज अभी से बना लिया जाये। कोरोना ओमिक्रॉन वेरियेंट की रोकथाम हेतु हमारे लिये सर्वोच्च प्राथमिकता में रहना चाहिये। उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिये कि सेम्पल बढ़ाये जायें। हर हालत में पॉजिटिविटी को कंट्रोल करना होगा। शासकीय अवकाश के दिन भी सेम्पलिंग का कार्य हर हालत में होना चाहिये। मोबाइल युनिट बढ़ायें। कोविड टीकाकरण से सेकंड डोज से छूटे हुए व्यक्तियों का अनिवार्य रूप से टीकाकरण के कार्य में तेजी लाई जाये।

विक्रय पत्र के क्रेता-विक्रेता पर एफआईआर दर्ज

कृषि भूमि के दस्तावेजों में मौके पर एवं अभिलेख अनुसार कृषि भूमि सिंचित है, जबकि पक्षकारों द्वारा असिंचित कृषि भूमि दर्शाकर दस्तावेज के विक्रय-पत्र का पंजीयन कराया जाकर असिंचित के मान से शुल्क चुकाया, जिससे राजस्व हानि हुई है। इस सम्बन्ध में कलेक्टर श्री आशीष सिंह ने जिला पंजीयक से जानकारी ली। जिला पंजीयक ने इस सम्बन्ध में अवगत कराया कि आपके निर्देश के अनुसार विक्रय-पत्र के क्रेता-विक्रेता पर एफआईआर दर्ज खाचरौद के उप पंजीयक द्वारा कराई गई है। मड़ावदी ग्राम निवासी विक्रेता श्री पन्नालाल पिता श्री कन्हैयालाल एवं क्रेता श्रीमती फरीदाबी पति श्री शब्बीर पटेल और ग्राम कांकरियापाल विक्रेता श्रीमती अन्नपूर्णाबाई पति श्री मदरूसिंह एवं ग्राम नन्दवासला निवासी क्रेता श्री नरेन्द्र परमार पिता श्री परमानन्द पर एफआईआर दर्ज कराई गई है।

कलेक्टर श्री आशीष सिंह ने विभागवार एवं राजस्व अधिकारियों की अनुभागवार लम्बित प्रकरणों की समीक्षा कर सम्बन्धितों को प्रकरणों के निराकरण के निर्देश दिये। पथ विक्रेता के ऋणों के प्रकरणों का निराकरण करने के निर्देश जिला अग्रणी बैंक के प्रबंधक को दिये। जल मिशन के अन्तर्गत गांव में किये जा रहे कार्यों को समय-सीमा में पूर्ण कर लिया जाये। उन्होंने सम्बन्धित राजस्व अनुविभागीय अधिकारियों को निर्देश दिये कि अपने-अपने अनुभाग क्षेत्रों का भ्रमण कर जल मिशन जैसे महत्वपूर्ण कार्य का फीडबेक लेना चाहिये। जल मिशन के तहत हो रहे कार्यों का उनके द्वारा एक-दो पंचायतों का अनिवार्य रूप से आने वाले समय में भ्रमण किया जायेगा। पेंशनधारियों का शत-प्रतिशत सर्वे कराने के बाद उनका वेरिफिकेशन किया जाये। शासकीय जमीन पर होने वाले अतिक्रमण को रोका जाये। शासकीय जमीन के आवंटन के प्रकरणों का निराकरण समय-सीमा में किया जाये।

आज आरओ की बैठक होगी

कलेक्टर श्री आशीष सिंह ने बैठक में जानकारी देते हुए बताया कि राजस्व अधिकारियों की मंगलवार 28 दिसम्बर को अपराह्न 3 बजे सिंहस्थ मेला कार्यालय के सभाकक्ष में बैठक ली जायेगी। बैठक में सम्बन्धित राजस्व अधिकारी अनिवार्य रूप से जानकारी के साथ उपस्थित होने के निर्देश दिये हैं।

4 जनवरी को समाधान ऑनलाइन होगी

कलेक्टर श्री आशीष सिंह ने बताया कि मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान भोपाल मंत्रालय से 4 जनवरी को समाधान ऑनलाइन लेंगे। कलेक्टर ने इस सम्बन्ध में सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि समाधान ऑनलाइन के प्रकरणों का तीव्र गति से निराकरण कर लिये जायें। खराब स्थिति होने पर सम्बन्धित अधिकारी के विरूद्ध कार्यवाही की जायेगी। समाधान ऑनलाइन के पूर्व अपने-अपने विभागों में लम्बित प्रकरणों का निराकरण कर लिया जाये।

क्रमांक 3982 उज्जैनिया/जोशी

मालवा अभीतक की ताजा खबर सीधे पाने के लिए : 

नववर्ष पर शुरू किये पौधरोपण अभियान को लेकर शाजापुर कलेक्टर के बढ़ते कदम,आज 350 पौधे लगाए,देखें कार्यक्रम का पूरा कवरेज     |     शाजापुर जिले के एक सेल्समैन के विरूद्ध थाने में एफआईआर दर्ज     |     जिले में आज 26 कोरोना पाजीटिव मरीज मिले, 19 डिस्चार्ज भी     |     आवास पूर्ण नही करने वाले 185 हितग्राहियों को राशि वसुली के नोटिस     |     “Dewas'” सभी साथी पूरी पारदर्शिता के साथ समाजहित का काम करेंगे-नवनियुक्त अध्यक्ष इम्तियाज शेख ने कहा     |     एक व्यक्ति को शाजापुर कलेक्टर ने 6 माह के लिए किया निर्बंधित     |     अज्ञात आरोपी की गिरफ्तारी के लिए ईनाम घोषित     |     कलेक्टर ने टीम के साथ कन्टेन्मेंट क्षेत्र का निरीक्षण     |     आईपीएस तबादला लिस्ट जारी, अनिल कुमार शर्मा आईजी ग्वालियर बने, शाजापुर जिले के सबसे लोकप्रिय एसपी रहे श्री शर्मा     |     उज्जैन संभागायुक्त ने विकास खण्ड चिकित्सा अधिकारी को किया निलम्बित     |    

Don`t copy text!