कोरोना संभावित मरीज का आरटीपीसीआर टेस्ट अनिवार्यत: करवाए- कलेक्टर श्री जैन निजी क्षेत्र के चिकित्सको के साथ बैठक में कलेक्टर ने कहा

शाजापुर, 07 जनवरी 2022/ कोरोना संभावित मरीज का आरटीपीसीआर टेस्ट अनिवार्यत: करवाए। यह बात कलेक्टर श्री दिनेश जैन ने आज निजी क्षेत्र के चिकित्सको के साथ सम्पन्न हुई बैठक में कही। कोविड-19 के नये वैरिएंट ओमिक्रोन एवं कोरोना महामारी की संभावित तीसरी लहर की रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए कलेक्टर ने निजी क्षेत्र के चिकित्सको की बैठक ली थी। बैठक में सीएमएचओ डॉ. राजू निदारिया, निजी क्षेत्र के चिकित्सक डॉ. एआर हावड़िया, डॉ. सुनील सोनी, डॉ. एसएन केलकर, डॉ. एएस केलकर, डॉ. हर्षदेव मेहता, डॉ. संदीप पाटीदार, डॉ. आरबी सिंह बिसेन, डॉ. ललित पाटीदार, डॉ. ओम प्रकाश नागर, डॉ. सीपी नाहर, डॉ. मनोज शर्मा, डॉ. मनोज विश्वास, डॉ. नदीम परवेज खान, डॉ. आरिफ खान, डॉ. भारती, श्री मुकेश राणा, श्री इंदर नागर, श्री हुकम सिंह, श्री देवेन्द्र विश्वास एवं श्री राजकुमार धनगर , डॉ अश्विन केलकर भी मौजूद थे।

बैठक में कलेक्टर श्री जैन ने कहा कि निजी चिकित्सको के पास कोई भी ऐसा मरीज आए जिसमें कोरोना के लक्षण दिख रहे हो, उन्हें सेम्पल देने के लिए फीवर क्लिनिक भेजे तथा टेस्ट करवाए। कलेक्टर ने कहा कि कोरोना की दूसरी लक्षर ने जो-जो कमियां दिखी थी उसे दूर कर रहे है। पिछली बार कोरोना संक्रमित कई लोगो ने टेस्ट नहीं करवाए थे‍ जिसके कारण दिक्कते आई थी। साथ ही शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रो में अभी भी कुछ लोग ऐसे हैं जिन्होंने जानबूझकर वैक्सीन नहीं लगवाई है। ऐसे लोग कोरोना से जल्दी संक्रमित हो सकते है और स्प्रेडर बनकर अन्य लोगों को संक्रमित कर सकते है। जिन लोगों को वैक्सीन लगा है उनमें एण्टीबॉडी काम कर रही है। उन्होंने कहा कि चिकित्सा क्षेत्र से जुड़े हुए लोग समाज, विभिन्न जातियों या समुदायों के प्रमुख कोरोना के प्रति लोगो को जागरूक करें और कोरोना उपयुक्त व्यवहार का पालन करवाए। कलेक्टर ने कहा कि चिकित्सक अपने दायित्वों का निर्वहन कर कोरोना से लड़ने में प्रशासन को सहयोग दें। सेम्पल लेने के लिए जिले में 11 स्थानों पर फीवर क्लिनिक संचालित हो रहे है और आरआरटी दलों का गठन भी किया गया है। कलेक्टर ने सभी चिकित्सको से कहा कि कोरोना गाईड लाईन के अनुरूप ही मरीजो का उपचार करें। कलेक्टर ने निजी क्षेत्र के चिकित्सको से कहा कि वे भी आवश्यकता पड़ने पर कोविड केयर सेंटर में मरीजो का सलाह देने जा सकते है। बिना लक्षण वाले एवं कम संक्रमित मरीजो को होमआईसोलेट करें। कोविड केयर सेंटर में ऐसे मरीजो को रखा जाएगा जिनके यहां आईसोलेट होने के लिए स्थान नहीं हो। साथ ही चिकित्सालय में ऐसे मरीजो को भर्ती किया जाएगा जिन्हें उपचार की नितांत आवश्यकता हो।

इस मौके पर सीएमएचओ डॉ. निदारिया ने कहा कि शासकीय एवं निजी क्षेत्र के चिकित्सक आपस में समन्वय कर मरीजों का समुचित उपचार करें। खण्ड स्तर पर भी ऑक्सीजन बेड बनाए गए है। यहां भी मरीजों को समुचित उपचार मिलेगा।

मालवा अभीतक की ताजा खबर सीधे पाने के लिए : 
ताज़ा ख़बर पाने के लिए एंड्राइड एप्लीकेशन इनस्टॉल करें :

महंगाई ने तोड़ा 15 महीनों का रिकॉर्ड, मई में पड़ी दोगुनी मार     |     भाजपा ने पूर्व कांग्रेस विधायक को अमरवारा विधानसभा उपचुनाव में प्रत्याशी बनाया     |     UP में लगातार घटता जा रहा BJP का ग्राफ, यही रहा पैटर्न तो 2027 के लिए खतरे की घंटी     |     पति को छुट्टी न मिलने से नाराज पत्नी का अफसर पर फूट गया गुस्सा, जमकर पीटा..     |     छत्तीसगढ़: बारूदी सुरंग में विस्फोट, आईटीबीपी के दो जवान घायल     |     भिंड: दूषित पानी पीने से 2 लोगों की मौत, 84 को उल्टी दस्त की शिकायत, एक्टिव हुआ पीएचई विभाग     |     पुणे पोर्शे हिट एंड रन: रईसजादे के दोस्तों का खुलासा- पब में पी थी 90 हजार रुपये की शराब     |     मध्य प्रदेश के इस स्कूल में पढ़ने वाले छात्र बन जाते हैं तीनों सेनाओं में अफसर, आर्मी और नेवी चीफ भी यहीं से पढ़े     |     बछड़े का कटा सिर मंदिर में फेंका, हिंदू संगठनों ने किया बंद का ऐलान, तनाव का माहौल     |     यूपी के कांस्टेबल ने की गंदी हरकत, रोते-बिलखते SP के पास पहुंची छात्रा, सुनाई आपबीती     |