मुख्यमंत्री श्री चौहान ने रोपा चांदनी का पौधा, होली पर संयम और अनुशासन के लिए मुख्यमंत्री ने प्रदेशवासियों का माना आभार

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने स्मार्ट पार्क में आज चांदनी का पौधा रोपा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि हमारी प्रार्थना और प्रयास यही है कि प्रदेश में विकास और समृद्धि का फूल खिले। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इस अवसर पर मीडिया के प्रतिनिधियों से बात करते हुए प्रदेश की जनता का आभार माना। उन्होंने कहा कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए त्यौहारों को संयम और अनुशासन से बिना भीड़-भाड़ किए मनाने की आवश्यकता थी। मैंने नागरिकों से यह आव्हान भी किया था कि रस्म निभाएँ, परंपरा पूरी करें पर कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए जुलूस और भीड़-भाड़ नहीं होने दें। प्रदेश की जनता ने जिस आत्मानुशासन का परिचय दिया, उसके लिए मैं प्रदेश की जनता का आभारी हूँ। जनता के सहयोग से ही कोरोना के संक्रमण पर नियंत्रण पाया जा सकता है। मैंने प्रदेश की जनता से धैर्य और संयम के साथ त्यौहार मनाने की अपील की थी, जनता ने पूरा सहयोग दिया इसके लिए मैं उनका धन्यवाद करता हूँ।
छोटे शहरों में भी फैल रहा है कोरोना
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना के प्रकरणों को देखते हुए हमें तीन स्तरों पर कार्रवाई करने की आवश्यकता है। पहला तो संक्रमण की चेन को हम कैसे तोड़े। इसे फैलने से रोकना है। छोटे शहरों में बड़ी संख्या में प्रकरण सामने आ रहे हैं। रतलाम और बैतूल जैसे शहरों में प्रकरणों की संख्या सौ से अधिक हो रही है। यह चिंता का विषय है। हमारी कोशिश है सभी शहरों के अस्पतालों में पर्याप्त सुविधा, ऑक्सीजन और आवश्यक सामग्री की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए।
नहीं होगा लम्बी अवधि का लॉकडाउन
पड़ोसी राज्य में कोरोना के बढ़ते प्रकरणों को देखते हुए वहाँ से आ रहे संक्रमण पर नियंत्रण के उपायों के लिए भी ब्रेन स्टॉर्मिंग जारी है। कोरोना के चक्र को समाप्त कैसे किया जाए, समुचित इलाज की व्यवस्था हो। इस पर भी विशेषज्ञ विचार-विमर्श कर रहे हैं। शाम को पुनः कोरोना की समीक्षा होगी और यदि आवश्यक हुआ तो कुछ निर्णय लिए जाएंगे। हमारा हरसंभव प्रयास है कि लम्बी अवधि का लॉकडाउन नहीं हो। गरीब की रोजी-रोटी चलनी चाहिए, रोजगार और व्यापार आवश्यक है। वर्तमान में शनिवार रात से सोमवार सुबह तक के लॉकडाउन की व्यवस्था रहेगी। साथ ही संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए अन्य उपायों पर विचार किया जाएगा।
खुशबूदार चांदनी का पौधा
चांदनी (रातरानी) – चांदनी के फूल खुशबू बिखेरते हैं। इसकी खुशबू बहुत दूर तक जाती है। इसके छोटे-छोटे फूल गुच्छे में आते हैं तथा रात में खिलते हैं और सवेरे सिकुड़ जाते हैं। रातरानी के फूल साल में 5 या 6 बार आते हैं। हर बार 7 से 10 दिन तक अपनी खुशबू बिखेरकर बहुत ही शांतिमय और खुशबूदार वातावरण निर्मित कर देते हैं। रातरानी और चमेली के फूलों का इत्र भी बनता है। यह श्रृंगार के भी काम आता है। चांदनी एक सदाबहार झाड़ी वाला पौधा है, जो 13 फुट तक ऊँचा हो सकता है। इसकी पत्तियाँ सरल, संकीर्ण चाकू जैसी लंबी, चिकनी और चमकदार होती हैं। फूल दुबला ट्यूबलर जैसा हरा और सफेद होता है।

मालवा अभीतक की ताजा खबर सीधे पाने के लिए : 
ताज़ा ख़बर पाने के लिए एंड्राइड एप्लीकेशन इनस्टॉल करें :

5 घंटे और 150 सवाल, जिस दिन हुई फायरिंग, उस रात क्या कर रहे थे सलमान खान?     |     आइसक्रीम में थी कटी हुई इंसानी उंगली, खाने ही जा रही थी महिला कि निकल गई चीख     |     जमीन में आधा गड़ा शख्स… नहीं मिली अनुकंपा की नौकरी, सरकारी दफ्तर के सामने ले ली समाधि     |     महाराष्ट्र: नागपुर की बारूद फैक्ट्री में विस्फोट, 5 लोगों की मौत, कई घायल     |     क्या राहुल गांधी की दुविधा हो गई खत्म? वायनाड सीट से प्रियंका लड़ेंगी चुनाव!     |     दिल्ली जल संकट: हिमाचल ने कहा- अतिरिक्त पानी नहीं, सुप्रीम कोर्ट बोला- हम विशेषज्ञ नहीं, यमुना बोर्ड करे पानी का बंटवारा     |     आतंकियों का खात्मा तय! पीएम मोदी और NSA अजीत डोभाल की मीटिंग में बना फुलप्रूफ प्लान     |     NEET: अंधकार में लाखों छात्रों का भविष्य, कैसे बहाल होगी परीक्षा की विश्वसनीयता?     |     मक्सी पुलिस ने पुर्व में गोवंश का परिवहन एवं व्यापार करने वाले पर की थी बड़ी कार्यवाही, अब सभी पर बांड ओवर कार्यवाही कर उनके बाडे चेक किये     |     कालापीपल पुलिस ने असमाजिक तत्व पर की कार्यवाही     |    

Don`t copy text!
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए सम्पर्क करें