जमाकर्ताओं को राशि वापस करने के निर्देश, मामला सहारा केडिट कॉपरेटिव सोसाईटी का

शाजापुर, 30 मार्च 2021/ कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी श्री दिनेश जैन द्वारा सहारा केडिट कॉपरेटिव सोसाईटी अन्तर्गत विभिन्न जमाकर्ताओं के द्वारा प्रस्तुत किये गये आवेदन के तारतम्य में सर्व साधारण एवं आम नागरिक के हित में सहारा केडिट कॉपरेटिव सोसायटी अन्तर्गत जमाकर्ताओं को उनकी जमा राशि का शत प्रतिशत भुगतान एक माह के अन्दर किये जाने एवं 15 अक्टूबर 2020 से किसी भी आम नागरिक-जनसाधारण का कोई नया निवेश स्वीकार नहीं करने के लिए निर्देशित किया गया है। इसके अलावा रीजनल मेनेजर उज्जैन श्री रविन्दरसिंह को पुनः आदेश का पालन सुनिश्चित करते हुए निर्देशित किया गया है कि वे सर्वप्रथम कमजोर, मजदूर वर्ग वाले तथा जिनकी राशि कम है उन जमाकर्ताओं को 8 दिवस के भीतर शत प्रतिशत राशि का भुगतान किया जावे एवं इस संस्था के ऐजेन्ट एवं उनके परिवार सदस्यों के नाम से जमा की गई राशि का भुगतान आम नागरिक/जमाकर्ताओं के भुगतान के बाद किया जाये।

इस कार्यालय द्वारा रीजनल मैनेजर सहारा कॉपरेटिव सोसाईटी उज्जैन से जिला शाजापुर अन्तर्गत कार्यरत सहारा ऐजेन्टो की चल-अचल सम्पत्ति की जानकारी भी चाही गई थी, जिसके तारतम्य में विगत 4 मार्च 2021 को रीजनल मैनेजर के द्वारा संबंधित ऐजेन्टो के नाम से जमा राशि की जानकारी प्रस्तुत की गई है एवं चल-अचल सम्पत्ति की जानकारी संबंधित तहसीलदारों के माध्यम से लेने का निवेदन किया गया। इसके अलावा उनके द्वारा यह भी उल्लेख किया गया है कि सहारा इण्डिया जिले में नया व्यवसाय एवं रि-इनवेशमेंट करने पर रोक लगाई गई थी एवं कृषि मंत्रालय द्वारा भी रोक लगी हुई थी। इस संबंध में उच्च न्यायालय खण्डपीठ नई दिल्ली में प्रचलित निर्णय के अनुसार उपरोक्त रोक को हटा दिया गया है और हमें कार्य करने की अनुमति मिल गई है, उल्लेख किया गया है।

रीजनल मैनेजर के द्वारा विगत 04 मार्च 2021 को प्रस्तुत उपर्युक्त जानकारी के तारतम्य में विगत 10 मार्च को पुनः रीजनल मेनेजर श्री रविन्दर सिंह को समक्ष में सुना गया एवं उन्हें यह निर्देशित किया गया है कि वे संबंधित ऐजेन्टो की चल-अचल सम्पत्ति की जानकारी उनके स्तर पर भी संकलित कर इस कार्यालय को उपलब्ध करावें। प्रस्तुत जानकारी संबंधित ऐजेन्टो व उनके परिवारजनों के नाम से अत्यधिक मात्रा में राशि जमा है, ऐसी दशा में उनकी राशि का भुगतान के पूर्व सर्वप्रथम कमजोर, मजदूर वर्ग वाले तथा जिनकी राशि कम है उन जमाकर्ताओं को 31 मार्च 2021 के पूर्व शत प्रतिशत राशि का भुगतान अनिवार्य रूप से किया जाये एवं इस संस्था के ऐजेन्ट एवं उनके परिवार सदस्यों के नाम से जमा की गई राशि का भुगतान आम नागरिक/जमाकर्ताओं के भुगतान होने के बाद किया जाये। चूंकि कलेक्टर कार्यालय में प्रतिदिन सहारा कम्पनी में जमाकर्ताओं के द्वारा आवेदन प्रस्तुत किये जा रहे है एवं उनकी राशि का भुगतान नहीं होने से उनके परिवार में बच्चों के विवाह, बीमारी ईलाज एवं अन्य तरह से आर्थिक स्थिति का संकट उत्पन्न हो गया है। ऐसी दशा में आवेदकों को उनकी राशि का भुगतान होना आवश्यक है।

कलेक्टर ने आम नागरिक एवं जनहित को दृष्टिगत रखते हुए पुनः आदेशित किया है कि 31 मार्च 2021 के पूर्व उपर्युक्त अनुसार उल्लेखित जमाकर्ताओं को शत-प्रतिशत राशि का भुगतान किया जाये, अन्यथा नियमानुसार वैधानिक कार्यवाही की जायेगी।

मालवा अभीतक की ताजा खबर सीधे पाने के लिए : 
ताज़ा ख़बर पाने के लिए एंड्राइड एप्लीकेशन इनस्टॉल करें :

उज्जैन: सावन महीने में भस्म आरती और दर्शन व्यवस्था को लेकर महाकाल मंदिर समिति का बड़ा फैसला     |     कार के बोनट पर बैठकर स्टंट करना पड़ा महंगा, पुलिस ने की कार्रवाई     |     इंदौर में नाइट कल्चर बंद, नहीं खुल सकेंगे रात भर मॉल और दुकानें     |     पत्नी से अवैध संबंध के शक में की थी हत्या… अंधे कत्ल का ऐसे हुआ पर्दाफाश… पुलिस को जंगल में बोरे में बंद मिली थी लाश     |     मिमिक्री आर्टिस्ट ने लड़की बनकर सॉफ्टवेयर इंजीनियर से ठगे 1 करोड़ 40 लाख रुपए, कभी गर्लफ्रेंड कभी ऑफिसर बनकर किया ब्लैकमेलबिलासपुर : छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में सॉफ्टवेयर इंजीनियर ड्रीमगर्ल की चाहत में ठगी का शिकार बन बैठा। जहां सॉफ्टवेयर इंजीनियर से 1 करोड़ 40 लाख रुपए की ठगी हो गई और खास बात यह कि ये ठगी एक मिमिक्री आर्टिस्ट ने की। मिमिक्री आर्टिस्ट ने लड़की की आवाज में सॉफ्टेवेयर इंजीनियर से बात की और शादी करने की बात कहकर फंसा लिया। इसके बाद फीमेल वॉइस में ब्लैकमेल कर पैसे वसूलता रहा। पूरा मामला सरकंडा थाना क्षेत्र का है। बिलासपुर SP रजनेश सिंह ने खुलासा करते हुए बताया कि सरकंडा निवासी नितिन जैन महाराष्ट्र के पुणे में सॉफ्टवेयर इंजीनियर है। उसे शादी करने के लिए लड़की की तलाश थी। कुछ दिन पहले मध्यप्रदेश के मैहर का रोहित जैन अपने भाई से मिलने पुणे गया था। इसी दौरान नितिन रोहित से मिला। बातचीत में उसने बताया कि शादी के लिए उसे लड़की की तलाश है। बस इसी का फायदा उठाते हुए रोहित ने नितिन से मेल-जोल बढ़ाना शुरू कर दिया। उसने लड़की तलाशने की बात कहकर नितिन को अपने भरोसे में ले लिया और इसके बाद यह पूरा ठगी का खेल यही से शुरू हुआ। इसके बाद उसने इंटरनेट से तीन लड़कियों के फोटो निकालकर नितिन के पास भेज दिए। इसमें एक युवती को नितिन ने पसंद किया। रोहित ने उसका नाम एकता जैन बताया। फिर उसने खुद ही दूसरे नंबर से लड़की की आवाज में बात करनी शुरू कर दी। पहले उसने एकता बनकर अलग-अलग बहाने से लाखों रुपए ट्रांसफर कराए, फिर अलग-अलग सिम से खुद को एकता का भाई, जज और अधिकारी बनकर नितिन से बात की। इतना ही नहीं उसने नितिन को ब्लैकमेल कर 1 करोड़ 40 लाख रुपए वसूल लिए। बहुत परेशान परेशान होकर सॉफ्टवेयर इंजीनियर ने पुलिस से शिकायत की। मामले की जांच करते हुए पुलिस आरोपी तक पहुंच गई और उसे मध्यप्रदेश के मैहर से गिरफ्तार कर लिया।लेकिन पूछताछ में आरोपी ने जो सच बताया वो बेहद हैरान कर देने वाला निकला। रोहित जैन ने बताया कि वह एक मिमिर्की आर्टिस्ट है। लिहाजा, वह आवाज बदलने में माहिर है। उसने पहले लड़की एकता जैन बनकर इंजीनियर रोहित से बात की तो नितिन शादी के लिए तैयार होने की बात कहते हुए उसे अपने झांसे में लिया। इसके बाद बीमार होने की बात कहते हुए उसने नितिन से 30 लाख रुपए और अलग-अलग अकाउंट में ट्रांसफर कराए। इसके बाद आरोपी ने अपना मनगढ़ंत कहानी का दूसरा पार्ट शुरू कर दिया और और आरोपी दूसरे पार्ट में आरोपी अंशुल जैन की भूमिका में आ गया और लड़की का ममेरा भाई बताकर नितिन से बातचीत शुरू की। साथ ही अपनी बहन की शादी कराने पारिवारिक सहमति बनाने में मदद करने की बात कही। इसी दौरान उसने शेयर मार्केट में नुकसान होने की बात कहते हुए नितिन से मदद मांगी। इसके बाद पारिवारिक समस्या और प्रॉपर्टी टैक्स भरने के बहाने बना-बनाकर 30 लाख रुपए ट्रांसफर भी करा लिए। अब यह कहानी यही नहीं रुकती है उसके बाद आरोपी रोहित ने पुणे जाकर फिर एक नई कहानी बनाई। उसने बताया कि एकता का परिवार हैदराबाद में रहता है। वहां पर उनकी प्रॉपर्टी है, जिसे बेचने के लिए हैदराबाद जाना है यहां पर उसने एकता के गिरफ्तार होने की बात कही। साथ ही बदली हुई आवाज में खुद को जज बताकर करीब 20 लाख की वसूली की। ये रकम उसने अलग-अलग अकाउंट में जमा कराई। आरोपी रोहित ने लड़की की आवाज में पहले ही नितिन को बताया था कि उसकी चेन्नई में प्रॉपर्टी है। इसके बाद उसने टैक्स अधिकारी बनकर बात की। उसने प्रॉपर्टी टैक्स जमा नहीं होने की बात कहते हुए एकता की गिरफ्तारी करने की बात कही। इससे बचने के लिए उसने तमिल, हिंदी और अंग्रेजी में बातचीत कर करीब 15 लाख रुपए वसूले। आरोपी रोहित ने बदली हुई आवाज में इंजीनियर को कॉल किया। उसने इंस्टट लोन ऐप के जरिए रकम अदायगी नहीं कर पाने की बात कही। साथ ही जांच एजेंसियों की नजर में होने का झांसा दिया। खुद ही मकान के नीचे खड़े रहकर मकान की तस्वीर ली और नितिन के मोबाइल पर भेजा। रोहित ने ED के अधिकारियों के आने का डर दिखाते हुए दरवाजा खोलने से मना किया। इस दौरान वह खुद बाहर से दरवाजे पर दस्तक देता रहा। डरे हुए नितिन ने उसके बताए खाते में 20 लाख रुपए जमा करा दिए। एसपी रजनेश सिंह ने इस पूरी कहानी से पर्दा उठाते हुए यह जानकारी दी कि आरोपी से पूछताछ में पता चला है कि आरोपी रोहित जैन स्कूल के समय से ही फिल्मी कलाकारों की नकल करता है। वह कई कलाकारों की आवाज अच्छी तरह से निकाल लेता है। इसके अलावा लड़कियों की आवाज में भी बात करता है। इसी हुनर का फायदा उठाते हुए उसने इंजीनियर से ठगी की। आरोपी आदतन सटोरिया है। वह ऑनलाइन बेटिंग ऐप पर दांव लगाता है। ठगी की रकम को उसने अलग-अलग ऑनलाइन बेटिंग प्लेटफॉर्म पर लगा दिया। इसमें से वह बड़ी रकम हार गया। उसने पुलिस को बताया कि हारने के बाद ठगी और ब्लैकमेलिंग के पैसों को सटोरियों के अलग-अलग अकाउंट में ट्रांसफर कराया। मामले में पुलिस ने करीब 40 बैंक अकाउंट फ्रीज कराए हैं। बैंक खातों से पीड़ित की रकम वापस कराने की भी कार्रवाई की जाएगी।     |     इंदौर में बंद हो सकता है नाइट कल्चर, सीएम मोहन ने दिए संकेत     |     वरिष्ठ नेता रघुनंदन शर्मा ने अपनी ही सरकार और पार्टी पर उठाए सवाल, कांग्रेस बोली- उन्होंने भाजपा को आईना दिखा दिया     |     दमोह में आकाशीय बिजली गिरने से पति-पत्नी की हुई दर्दनाक मौत ,एक की हालत गंभीर     |     मनचलों की प्रताड़ना से परेशान महिला ने की आत्महत्या, जांघ पर लिखे 3 लोगों के नाम     |     ग्वालियर में भीषण सड़क हादसा ट्रक ने बाइक में मारी टक्कर, बहन-भाई और भांजे की दर्दनाक मौत..     |