कृषक बंधु पहले राशि जमा करवायें, बाद में व्यापारियों को दें उपज : मंत्री श्री पटेल

0 241

कृषि मंत्री ने किसानों से की अपील

किसान कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री श्री Kamal Patel ने किसानों से अपील की है कि वे अपनी उपज व्यापारियों को देने के पहले राशि अपने खाते में जमा करवायें। उन्होंने हरदा के कृषकों के साथ धोखाधड़ी करने वाले देवास के व्यापारियों के विरुद्ध की गई त्वरित कार्यवाही पर हरदा और देवास प्रशासन की तारीफ की है।

मंत्री श्री पटेल ने कहा है कि व्यापारियों को उपज बेचने के पहले किसानों को उसका मूल्य अपने खाते में जमा करा लेना चाहिये। यदि कोई व्यापारी राशि एडवांस देने में आनाकानी करता है, तो उसे अपनी उपज हरगिज न बेचें। राशि प्राप्त होने के बाद ही व्यापारियों को उपज ले जाने दें। इससे कृषक अनावश्यक परेशानी से बच सकेंगे। मंत्री श्री पटेल ने हरदा के 11 कृषकों द्वारा देवास के खातेगाँव के व्यापारी सुरेश पिता नारायण और पवन पिता नारायण के विरुद्ध एक करोड़ 70 लाख का भुगतान नहीं किये जाने की शिकायत पर की गई त्वरित कार्यवाही के लिये हरदा एवं देवास जिला प्रशासन की सराहना की।

मंत्री श्री पटेल ने कहा है कि किसानों के साथ धोखाधड़ी करने वालों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जायेगा। उन्होंने कहा कि धोखाधड़ी करने वाला कितना भी बड़ा रसूखदार क्यों न हो, उसके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जायेगी।
#JansamparkMP

मालवा अभीतक की ताजा खबर सीधे पाने के लिए : 
टेलीग्राम- https://t.me/joinchat/4W4DvoQVkllmMGQ1
  ट्विटर- https://twitter.com/KhanMaksi
Leave A Reply

Your email address will not be published.

शाजापुर मंडी भाव 22 सितम्बर2021     |     Video शाजापुर प्रथम दौरे पर आए आईजी,एसपी,एएसपी ने की अगवानी, अधिकारियों की ली बेठक,दिए निर्देश,     |     शाजापुर मंडी भाव     |     आगर मंडी के भाव     |     बिना परमिट के संचालित एक बस जप्त, 25 हजार से अधिक का राजस्व वसूला     |     जनसुनवाई प्रारम्भ हुई, कलेक्टर ने आम आदमी की समस्याओं को सुना और निराकरण के निर्देश दिये     |     देवास जिले में राज्‍य शासन के निर्देशानुसार पुन: शुरू हुई जनसुनवाई     |     कृषि विज्ञान केन्द्र, शाजापुर में 25 वीं वैज्ञानिक सलाहकार समिति की बैठक सम्पन्न     |     कलेक्टर ने लोगों की समस्याएं सुनी शाजापुर में जनसुनवाई में 47 आवेदन प्राप्त     |     शाजापुर कलेक्टर ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से 8 ग्राम पंचायतों से चर्चा     |