शाजापुर कलेक्ट्रेट में बाढ़ की स्थिति से निपटने की पूर्व तैयारी के लिए बैठक संपन्न

वर्षा के पूर्व शहरी क्षेत्रों के नालों एवं नालियों की सफाई कराएं
—–
पटवारी अपने क्षेत्र के डूब संभावित क्षेत्रों का पहले से आंकलन कर लें- कलेक्टर श्री जैन
—-
बाढ़ की स्थिति से निपटने की पूर्व तैयारी के लिए बैठक संपन्न
—–
सभी नगरीय निकाय वर्षा के पूर्व शहरी क्षेत्रों के नालों एवं नालियों की सफाई कर लें, ताकि वर्षा काल के दौरान नालों एवं नालियों में जल जमाव के कारण बाढ़ की स्थिति निर्मित न हो। उक्त निर्देश कलेक्टर श्री दिनेश जैन ने आज बाढ़ की स्थिति से निपटने की पूर्व तैयारी के लिए संपन्न हुइ बैठक में दिये। इस अवसर पर जिला पंचायत सीईओ श्रीमती मिशा सिंह, अपर कलेक्टर श्रीमती मंजूषा विक्रांत राय, होमगार्ड कमांडेंट श्री विक्रमसिंह मालवीय, जिला परिवहन अधिकारी श्री एपी श्रीवास्तव, अधीक्षण यंत्री विद्युत वितरण कंपनी श्री सुनील पटेल, कार्यपालन यंत्री जलसंसाधन श्री टीके परमार, पीएचई श्री विजयसिंह चौहान, लोकनिर्माण श्री रविन्द्र वर्मा, आईएस श्री केपी बाथम, नगरपालिका से श्री जादौन, उपसंचालक पशु चिकित्सा डॉ. ए.के.सिंह, कृषि श्री केएस यादव, सीएमएचओ डॉ. आर. निदारिया, भू अभिलेख अधीक्षक श्री अकलेश मालवीय सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद थे।

कलेक्टर श्री जैन ने कहा कि सभी विभाग के अधिकारी बाढ़ नियंत्रण से संबंधित सौंपे गये कार्यों को मुस्तेदी के साथ समय पर पूरा करें। पिछले वर्ष जहां-जहां दुर्घटना हुई थी, वहां पहले से सावधानी रखें। उन्होंने कहा कि दुर्घटनाएं लापरवाही से होती है अत: सभी स्थलों पर सतर्कता रखें। आबादी से लगी हुई सड़कों के किनारे गड्ढों को समय रहते भरवाएं या चारों ओर से घेराबंदी कर दें। पुल-पुलियाओं पर दुर्घटना न हो, इसके लिए पहले से बेरिकेटिंग का इंतजाम रखें। जलसंसाधन, लोक निर्माण एवं प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना विभाग के अधिकारी पहले से सुनिश्चित करें कि पुल-पुलियाओं पर पानी आने की स्थिति में आवागमन रोकने का इंतजाम करें। पुल-पुलियाओं की आवश्यक मरम्मत भी कराएं। सभी राजस्व अधिकारी सुनिश्चित करें कि यदि उनके क्षेत्र में दो घंटे से अधिक पानी बरस रहा हो तो वे तत्काल कन्ट्रोल रूम को सूचित करें। कन्ट्रोल रूम से भी लगातार फीडबैक प्राप्त कराएं। बाढ़ संभावित ग्रामीण क्षेत्रों में अच्छे तैराकों एवं गोताखोरों की सूची बनाकर रखें। पानी निकासी के इंतजाम के लिए ग्रामीण क्षेत्रों का कलस्टर बनाकर जेसीबी आदि रखें। जिन लोगों के पास जेसीबी आदि मशीनें हैं उनके भी नाम पते कन्ट्रोल रूम में रखें।

जलसंसाधन विभाग शाजापुर नगर से गुजरने वाली सिंचाई नहरों की सफाई कराये ताकि वर्षा के दौरान नगर में जल जमाव के कारण बाढ़ की स्थिति निर्मित न हो। खतरनाक स्थिति वाले मकानों को चिंहित कर उनपर नगरीय निकाय एवं ग्राम पंचायत पोस्टर बैनर लगाएं। बाढ़ के दौरान होने वाली क्षति का आंकलन भी संबंधित विभाग त्वरित गति से करते हुए सूचित करें। बाढ़ एवं अतिवर्षा से उत्पन्न आपदा के दौरान पीड़ितों की मदद में किसी तरह का भेदभाव नहीं करें, प्रस्ताव तैयार कर तत्काल स्वीकृति के लिए भेजें। जिला मुख्यालय पर कन्ट्रोल रूम में सभी संसाधन रखें तथा कन्ट्रोल रूम के माध्यम से समय पर सभी को सूचनाओं के सम्प्रेषण की व्यवस्था रखें। होमगार्ड कमांडेन्ट बाढ़ से निपटने के लिए आवश्यक जरूरी सामग्रियों की व्यवस्था रखें। बाढ़ के दौरान लोगों को बचाने के लिए क्विक रिस्पांस होना चाहिये। संभावित हॉटस्पाट क्षेत्रों में बाढ़ आने के पहले बचाव की तैयारी कर लें। पिछले वर्ष जहां-जहां अतिवर्षा एवं बाढ़ के कारण समस्या आई थी, उन्हें टारगेट बनाकर ऐसे क्षेत्रों के लिए सभी लोग पहले से तैयार रहें। इस मौके पर अपर कलेक्टर श्रीमती राय ने विभागों को बाढ़ के दौरान उनके द्वारा निभाए जाने वाले दायित्वों से अवगत कराया। जनपद, तहसील एवं नगरीय स्तर पर बाढ़ राहत समिति का गठन करें। लोकनिर्माण विभाग से कहा गया कि सभी रपटो, जलमग्न पुलियाओं पर संकेतक स्थापित करें। पुल पर जब पानी हो तो उसे पार न करने के लिए आवश्यक बाधाएं स्थापित करें। गार्ड स्टोन पर लाल रंग करें। खतरनाक पुल-पुलियाओं पर बाढ़ के दौरान यातायात प्रतिबंधित करने के लिए आवश्यक उपाय करें। लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग बाढ़ संभावित क्षेत्रो में बाढ़ जनित रोगो से बचाव हेतु सूचना प्रदान करने की व्यवस्था तथा आवश्यक दवाईयों एवं अन्य चिकित्सकीय सामग्री को सूचीबद्ध कर पहले से स्टॉक में उपलब्ध रखे, चिकित्सको, पैरामेडिकल स्टॉफ, वाहनों, ड्राईवर्स सहित चिकित्सा से जुड़े महत्वपूर्ण मानव संसाधनों की सूची तैयार करें। बाढ़ के दौरान निजी चिकित्सकों, जन स्वास्थ्य रक्षको की मदद लेने के लिए पहले से परिनियोजन करें। सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों, उप स्वास्थ्य केन्द्रों आदि पर दवाईयों का पर्याप्त भण्डारण रखें। पीएचई पेयजल स्त्रोतो के शुद्धीकरण, गुणवत्ता परीक्षण, भण्डार में आवश्यक कैमिकल्स की उपलब्धता तथा शुद्ध पानी हेतु क्लोरिन की गोलिया के वितरण एवं उपयोग हेतु प्रशिक्षण की व्यवस्था करें, विभागीय कंट्रोल रूम भी बनाए, जनजागरूकता हेतु बाढ़ संभावित क्षेत्रो में कार्यक्रम भी आयोजित करें। परिवहन विभाग बाढ़ के दौरान आबादी के निष्क्रमण हेतु चार पहिया वाहनों का चिन्हांकन तथा किराया दर निर्धारण कर सूची आपदा प्रबंधन प्राधिकरण को दें। ऊर्जा विभाग बाढ़ के दौरान करंट न फैले इसके लिए पावर कट के लिए पहले से प्लानिंग रखे। महत्वपूर्ण दूरभाष एवं मोबाईल नम्बरों को प्रचारित करें। राहत स्थल मेडिकल कैम्प, आपातकालीन संचालन केन्द्रो में वैकल्पिक व्यवस्था रखें। पशुपालन विभाग बाढ़ संभावित क्षेत्रो में पशुओ की संख्या की पूर्ण जानकारी रखें। पशुओं में भूजन्य रोगों के प्रतिरोधात्मक टीके लगाने की व्यवस्था करें, चिकित्सा दलों का गठन, दवाईयों आदि की उपलब्धता सुनिश्चित करें। खाद्य एवं आपूर्ति विभाग सस्ते मूल्य की दुकानो पर पर्याप्त अनाज एवं अन्य आवश्यक सामग्रियों का भण्डारण करें। दुरस्थ क्षेत्रो में भी खाद्यान्न का पर्याप्त भण्डारण रखें। नगरीय प्रशासन विभाग वर्षा ऋतु के पूर्व नालो एवं नालियो की सफाई एवं उसका मलबा निकालने की व्यवस्था करें। बाढ़ नियंत्रण समिति का गठन कर सूचना दें, राहत स्थलों की पहचान एवं व्यवस्था हेतु कार्य योजना तैयार करें। जल संसाधन विभाग बाढ़ के दौरान तट बंधो की सुरक्षा व्यवस्था तथा अकस्मिक योजना तैयार करें, बाढ़ प्रभावित ग्रामों का चिन्हांकन करें, तालाबों एवं अन्य जल संरचनाओं की रूकावटो को हटाने सहित अन्य व्यवस्था तैयार रखें। होमगार्ड विभाग आपदा के दौरान पुलिस अधीक्षक कार्यालय में कक्ष स्थापित करें। पुलिस एवं होमगार्ड, मोटर बोट्स, नावों एवं अन्य बाढ़ नियंत्रण सामग्रियों, तैराकों की सूची तैयार रखे और इसकी जानकारी आपदा प्रबंधन प्राधिकरण को भी दें। बाढ़ नियंत्रण के लिए मॉकड्रिल भी करें। महिला एवं बाल विकास विभाग आबादी के निष्क्रमण हेतु समाजसेवी संस्थाओं आदि की सहायता प्राप्त करने एवं ग्रामीणों को निष्क्रमण हेतु प्रेरित करने का कार्य करें। मछली पालन विभाग विभागीय संसाधनों के साथ ही मत्स्य पालकों एवं नाविकों के पास उपलब्ध नावों की सूची तैयार करें। इस अवसर पर जनसंपर्क विभाग से अपेक्षा की गई कि बाढ़ के दौरान नियमित प्रेस ब्रीफिंग की व्यवस्था एवं जिले की स्थिति से मीडिया कर्मियों को अवगत कराने का कार्य करेंगे। मीडिया में प्रकाशित खबरों के आधार पर त्वरित कार्यवाही करते हुए विभागो को सूचित करें तथा अफवाहों आदि का खण्डन भी करें।

मालवा अभीतक की ताजा खबर सीधे पाने के लिए : 
ताज़ा ख़बर पाने के लिए एंड्राइड एप्लीकेशन इनस्टॉल करें :

इंदौर विधानसभा क्षेत्र क्रमांक 1 के कांग्रेस प्रत्याशी संजय शुक्ला ने विभिन्न क्षेत्र में जाकर नागरिकों को दीपोत्सव की बधाई दी     |     नेता पुत्रों ने संभाली चुनाव प्रचार की कमान, प्रद्युमन सिंह तोमर और सुनील शर्मा के बेटे ने निकाली बाइक रैली     |     अमित शाह बोले- भाजपा ने बीमारू राज्य को बेमिसाल बना दिया, कांग्रेस को बताया परिवारवाद की पार्टी     |     बड़वानी में लहसुन से भरे पिकअप वाहन लूटने वाले अंतर्राज्यीय गिरोह का पर्दाफाश, पुलिस ने 11 बदमाशों को पकड़ा..     |     विदिशा में वन विभाग ने जड़ी बूटी की दुकान में की छापामार कार्रवाई, मिले कई वन्य जीवों के अंग व नाखून…     |     UP से नाबालिग प्रेमिका को भगाकर लाए युवक ने MP में रिक्शा चालक को मारी गोली, किराया मांगने पर हुआ विवाद     |     राहुल गांधी की न्याय यात्रा में शामिल होंगे कमलनाथ, कांग्रेस छोड़ने की अटकलों के बीच पूर्व सीएम का बड़ा ऐलान     |     फिल्म अभिनेता आयुष्मान खुराना पहुंचे उज्जैन, महाकाल मंदिर में पूजा अर्चना कर लिया बाबा का आशीर्वाद     |     उमरिया में जंगली हाथी का आतंक, ग्रामीणों पर किया हमला, महिला समेत दो घायल..     |     झोपड़ी वाले विधायक कमलेश डोडियार पर एक करोड़ रुपए मांगने का आरोप, मेडिकल स्टोर संचालक ने जारी किया वीडियो…     |     साइबर क्राइम पुलिस ने दो शातिर ठग पकड़े, खुद को मुख्यमंत्री का OSD बताकर करते थे ठगी..     |     जिस भस्मआरती के दर्शन मात्र से पूरी हो जाती है सारी मनोकामनाएं ! जानिए उसका रहस्य, क्या सच में चिता की ताजी राख से होती है महाकाल की पूजा     |     महाकाल मंदिर में बाबा के मंगल विवाह की तैयारियां शुरू, महाशिवरात्रि पर सजेगा सेहरा     |    

Don`t copy text!
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए सम्पर्क करें