दीवार तोड़कर दूसरी कंपनी को दिया रास्ता; सालाना मैंटेनस चार्ज बढ़ाने, रजिस्ट्री न करवाने का किया विरोध

पानीपत: सोसायटी में इकट्‌ठे होकर रणनीति बनाते स्थानीय निवासी।हरियाणा के पानीपत शहर के पॉश एरिया एल्डिको के खिलाफ वहां के ही रहने वाले स्थानीय लोगों ने मोर्चा खोल दिया है। लोगों ने एल्डिको रेजिडेंट संघर्ष समिति के बैनर तले रविवार को प्रदर्शन किया। प्रदर्शन दूसरे दिन भी सोमवार को जारी रहा। लोगों ने कंपनी के खिलाफ मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए उनके सोसायटी के दोनों कार्यालयों पर ताले जड़ दिए। लोगों ने कहा कि जब तक कंपनी उनकी मांगे पूरी नहीं होती, तब तक वे अपना प्रदर्शन जारी रखेंगे। इसके लिए लोगों ने सोसायटी के मेन गेट पर परमानेंट टेंट गाड दिया है।एल्डिको एस्टेट कार्यालय पर ताला जड़ते लोग।ये बातें हैं प्रमुख- हरेरा के आदेशों की अनदेखी, अब तक नहीं हुई लोगों के विला व फ्लैट की रजिस्ट्री। लोगों की मांग, जल्द हो रजिस्ट्रियां।- एल्डिको द्वारा दूसरी कंपनी को दिए जा रहे रास्ते को नहीं देना चाहिए। रास्ते के लिए तोड़ी गई दीवार फिर से खड़ी करनी चाहिए।- लगातार बढ़ा रहे सालाना मेनटेनस चार्ज वापिस होने चाहिए।-निजी कंपनी एम्पीरियम पाम ड्राइव को मिले CLU में रास्ता नहीं था, तो किस आधार पर 45 मीटर रास्ता मिल गया।- फेस-3 मगं कंपनी ने प्लॉट तो बेच दिए और बिजली फीडर की व्यवस्था नहीं की।90 दिन में कब्जा देने के निर्देश दिए थेहरेरा ने एल्डिको को आदेश देते हुए कहा था कि 45 दिन के भीतर सभी विला और प्लॉट मालिकों की रजिस्ट्री करवाई जाए। 90 दिन में इन्हें कब्जा नहीं देने पर 9.80 प्रतिशत ब्याज देने के भी निर्देश दिए थे। एल्डिको का अपनी दलीलों में मत था कि उनके पास ऑक्यूपेशन सर्टिफिकेट नहीं है। इस पर हरेरा का कहना था कि बिना ओसी के रजिस्ट्री हो सकती है।दूसरी कंपनी को एल्डिको के बीच से रास्ता देने के लिए तोड़ी दीवार।फ्लैट, विला और प्लॉट धारकों को नहीं मिल रहा मालिकाना हकपीड़ित एडवोकेट सचिन मिगलानी ने बताया कि पीड़ित अंकित मित्तल, सरोज, राखी तोमर, संजय कुमार, विकास चौधरी और विकास बख्शी ने 2015 से 2017 के बीच एल्डिको कंपनी से फ्लैट, विला व प्लॉट की खरीद की थी।एल्डिको कंपनी ने उनसे फ्लैट, विला, प्लॉट का पूरा भुगतान प्रदेश सरकार द्वारा तय गए गए टैक्स व जीएसटी के साथ वसूला। इसके बावजूद एल्डिको कंपनी ने फ्लैट व विला की रजिस्ट्री नहीं करवाई। वहीं प्लॉट का पूरा भुगतान लेने के बाद भी इनके मालिकों को कब्जा नहीं दिया। कब्जा नहीं मिलने के कारण मालिक अपने प्लॉट पर मकान नहीं बना पा रहे और किराए के घरों में रहने को मजबूर हैं।लोग झेल रहे आर्थिक, मानसिक और सामाजिक नुकसानएल्डिको कंपनी की वजह से उन्हें आर्थिक, मानसिक व सामाजिक नुकसान झेलना पड़ रहा है। प्लॉट धारकों का कहना है कि जब कंपनी की रजिस्ट्री करवाने की तारीख नजदीक आई तो काफी संख्या में लोग एल्डिको में ही किराए के मकानों में रहने लगे, ताकि अपनी देखरेख में मकान बना सकें, लेकिन अब तक कंपनी न तो रजिस्ट्री करवाई गई है और न ही कब्जा दिया।ऐसे में उनका अपना मकान बनाने का सपना टूटता नजर आ रहा है। इसलिए वो धरना प्रदर्शन करने पर मजबूर हुए हैं। अगर जल्द फ्लैट व विला की रजिस्ट्री नहीं हुई तो वो अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन करेंगे।

मालवा अभीतक की ताजा खबर सीधे पाने के लिए : 
ताज़ा ख़बर पाने के लिए एंड्राइड एप्लीकेशन इनस्टॉल करें :

महंगाई ने तोड़ा 15 महीनों का रिकॉर्ड, मई में पड़ी दोगुनी मार     |     भाजपा ने पूर्व कांग्रेस विधायक को अमरवारा विधानसभा उपचुनाव में प्रत्याशी बनाया     |     UP में लगातार घटता जा रहा BJP का ग्राफ, यही रहा पैटर्न तो 2027 के लिए खतरे की घंटी     |     पति को छुट्टी न मिलने से नाराज पत्नी का अफसर पर फूट गया गुस्सा, जमकर पीटा..     |     छत्तीसगढ़: बारूदी सुरंग में विस्फोट, आईटीबीपी के दो जवान घायल     |     भिंड: दूषित पानी पीने से 2 लोगों की मौत, 84 को उल्टी दस्त की शिकायत, एक्टिव हुआ पीएचई विभाग     |     पुणे पोर्शे हिट एंड रन: रईसजादे के दोस्तों का खुलासा- पब में पी थी 90 हजार रुपये की शराब     |     मध्य प्रदेश के इस स्कूल में पढ़ने वाले छात्र बन जाते हैं तीनों सेनाओं में अफसर, आर्मी और नेवी चीफ भी यहीं से पढ़े     |     बछड़े का कटा सिर मंदिर में फेंका, हिंदू संगठनों ने किया बंद का ऐलान, तनाव का माहौल     |     यूपी के कांस्टेबल ने की गंदी हरकत, रोते-बिलखते SP के पास पहुंची छात्रा, सुनाई आपबीती     |