शाजापुर में अंतरराष्ट्रीय वृद्धजन दिवस के अवसर पर हुआ ऐतिहासिक आयोजन देखें मालवा अभी तक की खास खबर

बुजुर्गो का सम्मान हमारी संस्कृति का हिस्सा है- श्री कराड़ा
वृद्धजन निकेतन में पारिवारिक माहौल में वृद्धजनों की देखभाल कर रहे हैं- कलेक्टर श्री जैन
शाजापुर, 01 अक्टूबर 2021/ बुजुर्गों का सम्मान हमारी संस्कृति का हिस्सा है। यह बात अंतर्राष्ट्रीय वृद्धजन दिवस 01 अक्टूबर के अवसर पर स्थानीय वृद्धजन निकेतन (वृद्धाश्रम) में वृद्धजनों के सम्मान के लिए आयोजित हुए समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में श्री अम्बाराम कराड़ा ने कही। इस अवसर पर शतायु पार करने वाले एवं 80 वर्ष से अधिक उम्र के बुजुर्गो का सम्मान किया गया। साथ ही शतायु पार करने वाले वृद्धजनों का सम्मान करते हुए उन्हें दैनिक जीवन में काम आने वाली सामग्री की किट (इसमें एक जोड़ी वस्त्र, शाल, छड़ी, मिल्टन का फलास्क, मेडिकल किट, काल बेल, इलेक्ट्रिक वार्मर आदि शामिल है) उपलब्ध कराई गई।

समारोह में मुख्य अतिथि श्री कराड़ा ने संबोधित करते हुए कहा कि हमारी संस्कृति में वृद्धाश्रम का कोई स्थान नहीं है, किन्तु समय एवं परिस्थित के कारण वृद्धाश्रम खोले गए है। हमारी संस्कृति संयुक्त परिवार की है जहां माता-पिता एवं वृद्धजनों का सम्मान होता है। घर के मुखिया की बात मानी जाती है। हमारी संस्कृति में पिता के आदेश का पालन करने के लिए भगवान श्री राम वनवास चले गए थे। वहीं श्रवण कुमार ने अपने माता-पिता को कावड़ में बिठाकर तीर्थ यात्रा कराई थी। भारत भूमि में बंधुत्व और अपनत्व का भाव है, सभी को हिल मिलकर रहने की प्रेरणा देती है। उन्होंने वृद्धश्रम के लिए भूमि एवं अन्य दान और सहयोग देने वालों के प्रति कृतज्ञता व्यक्त की। इस मौके पर कलेक्टर श्री जैन ने संबोधित करते हुए कहा कि शाजापुर में वृद्धजनों के लिए वृद्धाश्रम शुरू किया गया है, यहां वृद्धजनों के लिए पारिवारिक माहौल में भोजन, स्वास्थ्य परीक्षण, रहने, सुरक्षा आदि की व्यवस्था की जाती है। उन्होंने कहा कि हमें वृद्धजनों का सम्मान करना चाहिए, क्योंकि जो आज युवा है उन्हें कल वृद्धावस्था के दौर से गुजरना होगा। वृद्धजनों की भौतिक आवश्यकताएं कम होती है उन्हें केवल उनका ध्यान रखने वालों की लालसा रहती है। वर्तमान में संयुक्त परिवारों का विघटन हो रहा है और एकल परिवारों का चलन बढ़ता जा रहा है। इसलिए वृद्धजनों का ध्यान रखने के लिए कोई नहीं होता है। उन्होंने बताया कि वृद्धजनों की सुरक्षा के लिए शासन ने कानून भी बनाया है, जिसके अनुसार यदि कोई पुत्र या पुत्री अपने माता-पिता का ध्यान नहीं रखते है, तो उनके विरूद्ध भरण पोषण के तहत कार्रवाई हो सकती है। इस मौके पर उन्होंने बताया कि वृद्धाश्रम के संचालन का श्रेय डिप्टी कलेक्टर सुश्री प्रियंका वर्मा, शिक्षक श्री हेमंत दुबे, पीएचई की एडवाईजर श्रीमती रश्मि शर्मा, श्री पराग जैन, डॉ. सीके चतुर्वेदी एवं यहां के चौकीदार और कुक को जाता है। इनकी मेहनत से ही वृद्धाश्रम में पारिवारिक माहौल में वृद्धजनों की देखभाल हो रही है। इस मौके पर पूर्व विधायक श्री पुरूषोत्तम चंद्रवंशी ने संबोधित करते हुए कहा कि जिन माता-पिता ने अपने बच्चों को फूलो की तरह पाला पोसा वहीं उन्हें घर से निकाल देते है, यह अत्यंत दु:ख की बात है। उन्होंने एक किस्सा सुनाते हुए बताया कि हमारे देश के प्रथम आईसीएस श्री सुरेन्द्र नाथ को विदेश जाने का मौका मिला था, किन्तु उनकी माता ने उन्हें मना कर दिया था कि वे माता के आदेश का पालन कर विदेश नहीं जाए। समाज को इस बात का ध्यान रखना चाहिए की वृद्धजनों को किसी प्रकार की तकलीफ न हो यदि कोई संतान वृद्धजनों के साथ खराब व्यवहार करती है तो उन्हें समाज समझाए। पूर्व विधायक श्री अरूण भीमावद ने संबोधित करते हुए कहा कि शाजापुर का वृद्धाश्रम यहां के स्थानीय दानदाता श्री खुमानसिंह पाटीदार, स्व. चंद्रप्रकाश पाटीदार, श्री सूरजमल सांकलिया एवं भेरूलाल पाटीदार द्वारा दी गई भूमि पर निर्मित है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार वृद्धजनों के लिए विभिन्न योजनाएं संचालित कर रही है। प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने वृद्धजनो को तीर्थ यात्रा कराई। उन्होंने सभी लोगो से आहवाहन किया कि वे अपना जन्मदिन वृद्धाश्रम के आकर मनाए और वृद्धजनों से आशीर्वाद प्राप्त करें। इस मौके पर वरिष्ठ अभिभाषक श्री नारायण प्रसाद पाण्डेय ने संबोधित करते हुए कहा कि वृद्धाश्रम हमारे देश की संस्कृति न होकर विदेश की है, जो हमारे यहां भी पनपने लगी है। वृद्धाश्रम में निवास कर रहे वृद्धजनों के संबंध में उन्होंने कहा कि प्रशासन को चाहिए कि इन वृद्धजनों के बच्चों को बुलाकर उनकी काउन्‍सलिंग करें।

इसके पूर्व प्रभारी उपसंचालक सामाजिक न्याय एवं डिप्टी कलेक्टर सुश्री प्रियंका वर्मा ने स्वागत उद्बोधन देते हुए कहा कि वृद्धजन हमारी धरोहर है। इनके बिना हमारा जीवन अधूरा है।

शतायु पार करने वाले बुजुर्गो का सम्मान

अंतर्राष्ट्रीय वृद्धजन दिवस 01 अक्टूबर के अवसर पर आयोजित समारोह में 100 वर्ष की उम्र पार करने वाले वृद्धजनों का सम्मान किया गया। इस मौके पर उन्हें दैनिक जीवन में काम आने वाली सामग्री की किट जिसमें एक जोड़ी वस्त्र, शाल, छड़ी, मिल्टन का फलास्क, मेडिकल किट, काल बेल, इलेक्ट्रिक वार्मर आदि शामिल है, भेंट की गई।

इस अवसर पर 100 वर्ष पार करने वाली बिसिया बी ग्राम पनवाड़ी, गोपीलाल महुपुरा, धापुबाई महुपुरा, राजू बाई भीलवाड़िया, नसरूद्दिन खां महुपुरा, मीराबाई स्थानीय वृद्धाश्रम, बापू निछमा, कंचन बाई शाजापुर, भीमसिंह जादौन शाजापुर, मांगीलाल टांडाबोर्डी, हीराबाई शाजापुर, यशोदाबाई मझानिया, हीराबाई ठाकुर वृद्धाश्रम एवं जस्सीबाई मझानिया का सम्मान किया गया। इसी तरह 80 वर्ष पार करने वाले वृद्धजनों में शाजापुर की गंगाबाई, कमलाबाई, चंदाबाई, वैजंती बाई, जोधनाथ, बालाराम, मंसूर भाई, नसीफ खां, जलील अख्तर, मांगीलाल, पार्वती बाई, डॉ. जगदीश भावसार, हिम्मतसिंह गोठी का भी शाल एवं श्रीफल से सम्मान किया गया।

वृद्धजनों के साथ अतिथियों ने किया भोजन

अंतर्राष्ट्रीय वृद्धजन दिवस 01 अक्टूबर के अवसर पर स्थानीय वृद्धजन निकेतन में सम्पन्न हुए समारोह के दौरान उपस्थित अतिथियों ने वृद्धजनों के साथ भोजन ग्रहण किया।

दानदाताओं ने कम्बल एवं अन्य सामग्री भेंट की

अंतर्राष्ट्रीय वृद्धजन दिवस 01 अक्टूबर के अवसर पर स्थानीय वृद्धजन निकेतन में सम्पन्न हुए समारोह के दौरान शिवोहोम आनंद क्लब की और से 10 कम्बल, 05 बैठने के आसन एवं 10 स्टूल वृद्धाश्रम को भेंट किए गए। इसी तरह श्री नवीन वर्मा कंचन वेल्फेयर सोसायटी द्वारा भी 10 कम्बल एवं इटरनल शिक्षा एवं विकास समिति श्री वीसी झाला ने 5001 रूपये वृद्धाश्रम के लिए भेंट किए।

दानदाताओं का सम्मान

अंतर्राष्ट्रीय वृद्धजन दिवस 01 अक्टूबर के अवसर पर स्थानीय वृद्धजन निकेतन में सम्पन्न हुए समारोह के दौरान वृद्धाश्रम के लिए भूमि दान करने वाले श्री खुमानसिंह पाटीदार, श्री चंद्रप्रकाश पाटीदार की पत्नी श्रीमती पार्वतीबाई तथा श्री भैरूसिंह पाटीदार के पुत्र श्री कृष्ण गोपाल का सम्मान किया गया। इस मौके पर स्वास्थ्य खराब होने के कारण उपस्थित नहीं हुए दानदाता श्री सूरजमल सांकलिया का सम्मान पत्र उनके निवास पर पूर्व विधायक श्री पुरूषोत्तम चन्द्रवंशी के हस्ते भिजवाया गया।

कार्यक्रम का संचालन श्री हेमंत दुबे ने किया और उपस्थित अतिथियों के प्रति श्री नरेन्द्र तिवारी ने आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर श्री दिनेश शर्मा, श्री संतोष बराड़ा, श्री विजय जोशी, श्री प्रदीप चन्द्रवँशी, श्री किरणसिंह ठाकुर, श्री आशुतोष श्रीवास्तव, श्री गोपालसिंह राजपूत, श्री अशोक पाटीदार, श्री मानसिंह गोठी, श्री शंकरसिह परिहार, श्री मुकेश सौराष्ट्रीय, श्री योगेश पांचाल, श्री चन्दर सौराष्ट्रीय भी उपस्थित थे।

मालवा अभीतक की ताजा खबर सीधे पाने के लिए : 
ताज़ा ख़बर पाने के लिए एंड्राइड एप्लीकेशन इनस्टॉल करें :

Video शाजापुर SP ने महिला आरक्षक को 500 रुपए के इनाम से किया पुरस्कृत, देखे खास खबर     |     तराना पुलिस को चोरी के दो प्रकरणो में 24 घंटे मे चोरी का खुलासा आरोपी पुलिस गिरफ्त मे, 2 क्वींटल सोयाबीन व प्लायवुड का सामन किमत रुपये 1,20,000/- सहीत आरोपी गिरफ्तार     |     किसानों की सुविधा के लिये “एम.पी. फार्मगेट एप्प, किसान की फसल अब कही भी बिक सकेगी     |     शाजापुर, बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओं के तहत सास-बहु सम्मेलन     |     कलेक्टर ने शिशु गृह का निरीक्षण कर बच्चों की परवरिश की जानकारी ली     |     मारपीट करने वाले आरोपी को सजा शुजालपुर थाने का मामला     |     मारपीट करने वाले आरोपीगण को सजा,shajapur जिले का मामला     |     मध्यप्रदेश में भी लगाएंगे बहुआयामी कृषि प्रदर्शनी, लागू करेंगे नवाचार – मुख्यमंत्री श्री चौहान     |     मप्र गृह विभाग ने पुलिस सेवा संवर्ग के “उप पुलिस अधीक्षक” के कई अफसरों के लिए तबादले     |     एमपीवीएचए संस्था द्वारा स्पेशल डे गतिविधि के उपलक्ष्य में विश्व बाल दिवस गतिविधि का आयोजन किया गया     |    

Don`t copy text!
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए इस नम्बर पर सम्पर्क करें- 9907788088