शाजापुर जिले में अधिकारी एवं कर्मचारी के अवकाश पर प्रतिबंध

0 215

शाजापुर
—–
पंचदश मध्यप्रदेश विधानसभा का नवम सत्र 09 अगस्त से प्रारंम्भ होकर 12 अगस्त 2021 तक संपन्न होने जा रहा है। इस हेतु कलेक्टर श्री दिनेश जैन ने जिले के सभी शासकीय व अशासकीय कार्यालयों में कार्यरत अधिकारी व कर्मचारियों के अपरिहार्य कारणों को छोड़कर अवकाश पर प्रतिबंध लगाया गया है। प्रतिबंधित अवधि में यदि कार्यवश किसी भी अधिकारी-कर्मचारी को अवकाश पर जाना आवश्यक हो तो वे कलेक्टर के समक्ष अवकाश स्वीकृत कराने के उपरांत ही अवकाश पर जा सकेंगे। कलेक्टर ने जिले में स्थित सभी शासकीय व अशासकीय कार्यालयीन प्रमुखों को यह भी निर्देश दिये गये हैं कि विधानसभा सत्र के दौरान प्रत्येक अवकाश में कार्यालयीन समय से कार्यालय खुला रखना सुनिश्चित करें और किसी जिम्मेदार कर्मचारी की ड्यूटी लगाकर उसके नाम, पदनाम, मोबाईल नम्बर की जानकारी विधानसभा प्रकोष्ठ में भेजना सुनिश्चित करें। यदि विधानसभा सत्र के दौरान किसी भी अधिकारी-कर्मचारी द्वारा उपर्युक्त निर्देशों का उल्लंघन करने का तथ्य प्रकाश में आता है तो संबंधित त्रुटिकर्ता के विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही की जायेगी। यह आदेश तत्काल प्रभावशील होगा।

मालवा अभीतक की ताजा खबर सीधे पाने के लिए : 

शाजापुर जिले में आज 28 कोरोना पाजीटिव मरीज मिले     |     ग्रामीण क्षेत्रों की आबादी में आवासीय जमीन का मालिकाना अधिकार पत्र दिया जायेगा- कलेक्टर श्री जैन     |     शाजापुर की सरस्वती विद्या मंदिर दुपाड़ा मार्ग पर गणतंत्र दिवस का पर्व हर्षोल्लास के साथ मनाया     |     Video -शाजापुर में गणतंत्र दिवस पर, मक्सी, बेरछा, कोतवाली, मोहन बडोदिया टीआई नप,cmo, cmho, आबकारी अधिकारी सहित कई हुए सम्मानित     |     शाजापुर में राज्यमंत्री श्री यादव ने ध्वजारोहण कर सलामी ली , 73 वॉ गणतंत्र दिवस हर्षोउल्लास के साथ मनाया गया     |     Breking बेरछा पुलिस को मिली बड़ी सफलता,पूछताछ में स्मेक खरीदने,बेचने वाले 4 आरोपी ओर हुए नामजद,3 गिरफ्तार     |     Video गणतंत्र दिवस समारोह के लिए फाईनल रिहर्सल,तहसीलदार श्री राजाराम करजरे ने मुख्य अतिथि बनकर परेड की सलामी ली,कलेक्टर एसपी रहे मौजूद व्यवस्था देखी     |     संभागायुक्त ने अधिकारी एवं कर्मचारियों के निजी चिकित्सा प्रतिपूर्ति की कार्योत्तर स्वीकृति की बैठक ली, 251 चिकित्सा प्रतिपूर्ति की समीक्षा की गई     |     लोक सेवा गारंटी अधिनियम के तहत समय-सीमा में आवेदन-पत्रों का निराकरण नहीं करने पर कलेक्टर ने 10 नायब तहसीलदार एवं तहसीलदारों पर व एक मुख्य नगर पालिका अधिकारी पर ढाई-ढाई सौ रुपये का जुर्माना किया     |     नापतौल विभाग द्वारा विशेष जांच अभियान के तहत प्रकरण पंजीबद्ध     |    

Don`t copy text!