प्रदेश के मुखिया और मंत्रियों पर दर्ज हो गैर इरादतन हत्या का मामला – जिला कांग्रेस कमेटी ने कोतवाली प्रभारी को ज्ञापन सौंपकर की मांग

शाजापुर। जिला कांग्रेस कमेटी द्वारा सोमवार को जिला कांग्रेस अध्यक्ष योगेंद्रसिंह बंटी बना के नेतृत्व में कोतवाली प्रभारी को ज्ञापन सौंपकर मुख्यमंत्री, जिलों के प्रभारी मंत्री व स्वास्थ्य मंत्री के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का प्रकरण दर्ज करने की मांग की है। क्योंकि इन लोगों ने महामारी के चलते पूर्व से अस्पताल, बेड, आईसीयू और आॅक्सीजन की समुचित व्यवस्था नहीं की जिससे इतनी जाने गई।
सौंपे गए ज्ञापन में जिलाध्यक्ष श्री सिंह ने बताया कि प्रदेष चलाने की जिम्मेेदारी के तहत प्रथम चरण की वैव के बाद सभी आवष्यक व्यवस्थाएं पूर्व से प्रदेष शासन को करना थी। जबकि देषभर में वैज्ञानिकों, डाॅक्टर्स और विषेषज्ञों की संस्थाएं इस ओर इषारा कर रही थी कि द्वितीय चरण में कोरोना महामारी पहले से ज्यादा भयावह और ज्यादा लोगों को संक्रमित करेगी। इस बदइंतजामी का नतीजा यह हुआ कि गांव से लेकर बड़े-बड़े शहरों तक अस्पतालों में बेड, आईसीयू, आॅक्सीजन, आवष्यक जीवन रक्षक दवाईयों की भारी कमी हुई और अव्यवस्था के चलते कई कोरोना पीड़ितों को समय पर आवष्यक दवाईयां न मिलने पर जान गंवानी पड़ी। जबकि इसकी संपूर्ण जवाबदारी प्रदेष के जिम्मेदार मंत्रियों, अधिकारियों और जिले मे पदस्थ जिम्म्ेदार अधिकारियों की है। उन्होंने बताया कि यदि किसी निजी इंडस्ट्री में ऐसी अव्यवस्था के चलते इतनी मौते हो जाती तो अभी तक कई एफआईआर दर्ज कर कार्यवाही हो गई होती। यही नहीं उक्त अव्यवस्थाओं को छुपाने के लिए एक और नई चाल चली जा रही है। कोरोना पीड़ितों का सही आंकड़ा छुपाया जा रहा है। जबकि श्मषान, कब्रस्तान में किए गए अंतिम संस्कार के लिए ले जाए गए शवों का आंकड़ा शासन द्वारा बताए जा रही मौतों से 10 से 20 गुना अधिक है और यह सब सुनियोजित तरीके से षड्यंत्रपूर्वक प्रदेष के मुख्यमंत्री षिवराजसिंह चैहान, संबंधित विभाग के मंत्री प्रभुराम चैधरी, जिलों के प्रभारी मंत्रियों तथा मंत्रालय एवं जिलों में पदस्थ जिम्मेदार अधिकारियों द्वारा प्रदेष की जनता को भ्रमित करने के लिए किया जा रह है। इन लोगों द्वारा किया जा रहा यह कृत्य देषद्रोही की श्रेणी में आता है। साथ ही इनका यह कृत्य गैर इरादतन हत्या की श्रेणी में भी आता है। इसलिए प्रदेष के मुख्यमंत्री षिवराजसिंह चैहान, प्रभुराम चैधरी, जिलों के प्रभारी मंत्रियों तथा मंत्रालय एवं जिलों में पदस्थ जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ भादवि की धारा 304, 420, 406, 467, 468, 124-ए, 124 (2) आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 54 एवं अन्य आपराधिक विधि की सुसंगत धाराओं के अंतर्गत कठोर कानूनी कार्यवाही कर सजा दिलाने की कार्यवाही करें। ज्ञापन देते समय पूर्व सीसीबी चेयरमेन वीरेंद्रसिंह गोहिल, जिला किसान कांग्रेस अध्यक्ष कैलाष मटोलिया, विधायक प्रतिनिधि आषुतोष शर्मा, ब्लाॅक कांग्रेस अध्यक्ष इरषाद खान, जिला कांग्रेस प्रवक्ता पं. गोविंद शर्मा, सीताराम पवैया, विनीत वाजपेयी, महिला कांग्रेस जिलाध्यक्ष स्मिता सोलंकी, महेष बराड़ा, आईटीसेल जिलाध्यक्ष देवकरण गुर्जर, इरषाद नागौरी, सोहेल खान, जुनेद मंसूरी, दिनेष नायक आदि उपस्थित थे।

मालवा अभीतक की ताजा खबर सीधे पाने के लिए : 
ताज़ा ख़बर पाने के लिए एंड्राइड एप्लीकेशन इनस्टॉल करें :

महंगाई ने तोड़ा 15 महीनों का रिकॉर्ड, मई में पड़ी दोगुनी मार     |     भाजपा ने पूर्व कांग्रेस विधायक को अमरवारा विधानसभा उपचुनाव में प्रत्याशी बनाया     |     UP में लगातार घटता जा रहा BJP का ग्राफ, यही रहा पैटर्न तो 2027 के लिए खतरे की घंटी     |     पति को छुट्टी न मिलने से नाराज पत्नी का अफसर पर फूट गया गुस्सा, जमकर पीटा..     |     छत्तीसगढ़: बारूदी सुरंग में विस्फोट, आईटीबीपी के दो जवान घायल     |     भिंड: दूषित पानी पीने से 2 लोगों की मौत, 84 को उल्टी दस्त की शिकायत, एक्टिव हुआ पीएचई विभाग     |     पुणे पोर्शे हिट एंड रन: रईसजादे के दोस्तों का खुलासा- पब में पी थी 90 हजार रुपये की शराब     |     मध्य प्रदेश के इस स्कूल में पढ़ने वाले छात्र बन जाते हैं तीनों सेनाओं में अफसर, आर्मी और नेवी चीफ भी यहीं से पढ़े     |     बछड़े का कटा सिर मंदिर में फेंका, हिंदू संगठनों ने किया बंद का ऐलान, तनाव का माहौल     |     यूपी के कांस्टेबल ने की गंदी हरकत, रोते-बिलखते SP के पास पहुंची छात्रा, सुनाई आपबीती     |