खबर उज्जैन से- प्रदेश में पॉजीटिविटी रेट 5 प्रतिशत के नीचे आया, साथ ही रिकवरी रेट 90 प्रतिशत के ऊपर पहुंचा, मुख्यमंत्री ने जिलों के प्रभारी मंत्रियों के साथ वीसी की

उज्जैन 22 मई। शनिवार को मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से प्रदेश के जिलों के प्रभारी मंत्रियों के साथ कोरोना संक्रमण की स्थिति पर चर्चा की। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमण को अब हम नियंत्रित करने की स्थिति में आ गये हैं। हमारा पॉजीटिविटी रेट पांच प्रतिशत के नीचे आ गया है। इससे यह साबित होता है कि हम कोरोना के नियंत्रण की स्थिति में पहुंच गये हैं।

साथ ही प्रदेश में रिकवरी रेट 90 प्रतिशत के ऊपर पहुंच गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हम पहले से काफी बेहतर स्थिति में हैं, लेकिन हमें अभी कुछ दिन और पूरी तरह से सावधान रहना है। मुख्यमंत्री ने समस्त प्रभारी मंत्री, जनप्रतिनिधि और प्रशासनिक अधिकारियों को बधाई देते हुए कहा कि हमारे अथक परिश्रम के कारण हम कोरोना को नियंत्रित करने में सफल हुए हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हम अनन्तकाल तक बन्द नहीं रख सकते। दुनिया भी हमें चलानी है। एक जून से धीरे-धीरे अनलॉक की प्रक्रिया प्रारम्भ होगी। अनलॉक के ऊपर रणनीति बाद में बनाई जायेगी। प्रदेश में अभी भी कुछ जिले हैं, जिनमें चिन्ता करने की जरूरत है। ये वे जिले हैं जहां 100 के ऊपर पॉजीटिव केस प्रतिदिन आ रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये कि प्रभारी मंत्री, कलेक्टर और एसपी उनके जिलों में हॉटस्पॉट चिन्हित करें। माइक्रो कंटेनमेंट क्षेत्र बनायें तथा यह प्रण लें कि अपने जिलों को 31 मई तक कोरोनामुक्त करेंगे। माइक्रो कंटेनमेंट एरिया की निरन्तर मॉनीटरिंग की जाये। कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग करें। गांव, ब्लॉक, कॉलोनी, मोहल्ले में विशेष फोकस करने की जरूरत है। इसके लिये बहुत परिश्रम करना होगा। हमें यह प्रयास करने हैं कि कोरोना की तीसरी लहर को आने ही न दिया जाये।

सभी जिलों में टेस्टिंग खूब की जाये। संक्रमण पर हमने काबू पा लिया है। ऐसी ग्राम पंचायतें जहां एक भी पॉजीटिव केस आये हों, वहां निरन्तर टेस्टिंग चलती रहे।

किल कोरोना अभियान सुचारू रूप से चलता रहे। इसका चौथा चरण प्रारम्भ होगा। साथ ही कोरोना संक्रमण से एक भी मृत्यु नहीं होने देना है। अपने-अपने क्षेत्रों में संक्रमण के आधार पर ग्रीन, येलो और रेड झोन चिन्हित करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि क्राइसिस मैनेजमेंट समिति हमारी सबसे बड़ी ताकत है। साथ ही जनता के सहयोग के साथ ही हम कोरोना से लड़ सकते हैं। क्राइसिस मैनेजमेंट समितियों जनता से निरन्तर सम्पर्क बनाये रखें। सर्वे दल द्वारा घर-घर जाकर सर्दी, खांसी, बुखार के मरीजों के बारे में जानकारी ली जाये। जरा-से लक्षण होने पर तुरन्त उपचार प्रारम्भ कर दिया जाये, ताकि संक्रमण को वहीं समाप्त कर सकें।

वीसी के दौरान उज्जैन एनआईसी कक्ष में उच्च शिक्षा मंत्री डॉ.मोहन यादव, आईजी श्री योगेश देशमुख, कलेक्टर श्री आशीष सिंह, पुलिस अधीक्षक श्री सत्येन्द्र कुमार शुक्ल, सीईओ जिला पंचायत श्री अंकित अस्थाना तथा नगर निगम आयुक्त श्री क्षितिज सिंघल मौजूद थे।

मालवा अभीतक की ताजा खबर सीधे पाने के लिए : 
ताज़ा ख़बर पाने के लिए एंड्राइड एप्लीकेशन इनस्टॉल करें :

चेहरे पर पॉलिथीन बांधकर मुंह में डाल ली नाइट्रोजन गैस की पाइप ,सुसाइड का ऐसा तरीका सुनकर हिल जाएंगे आप     |     सागर के खुरई में हुई घटना को लेकर महिला कांग्रेस ने किया जमकर विरोध प्रदर्शन…     |     पुलिस ने किया हत्या का खुलासा, बेटे ने मां और बहन के साथ मिलकर पिता को उतारा था मौत के घाट ,जानें पूरा मामला…     |     इंदौर में एक परिवार इच्छा मृत्यु की कर रहा मांग, जानिए क्या है पूरा मामला…     |     तालाब की खुदाई के दौरान मिली थैली ,खोलकर देखा तो निकलीं लाखों रुपए की गड्डियां…     |     नर्मदापुरम जिला अस्पताल में महिला की मौत के बाद हंगामा ,परिजनों ने वार्ड बॉय पर लगाए गंभीर आरोप…     |     नौकरी दिलाने के नाम पर युवती से कार में गैंगरेप, पुलिस ने मौके से दबोचे 4 आरोपी     |     श्री हरमंदिर साहिब में नतमस्तक हुए सीएम मोहन यादव, देखिए तस्वीरें     |     महाकाल मंदिर में सुरक्षाकर्मियों और श्रद्धालुओं के बीच हुई जमकर मारपीट..     |     उधार पैसे नहीं दिए तो दोस्त ने दोस्त को उतार दिया मौत के घाट, डेढ़ महीने से लापता था व्यापारी ,पुलिस ने किया खुलासा..     |    

Don`t copy text!
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए सम्पर्क करें