मगरिया चौराहा का नाम खरखरे चौराहा रखकर प्रतिमा स्थापित की जाए- पूर्व मंत्री कराड़ा

शाजापुर। जिले से एक ऐसी शख्सियत विदा हो गई है जिसके जाने की कमी को कभी पूरा नही किया जा सकता है। मुसीबत की घड़ी में हर धर्म के लोगों के लिए खड़े रहने वाले शख्स का यूं अचानक से दुनिया को अलविदा किया जाना एक बड़ी क्षति है। यह बात मध्यप्रदेश शासन के पूर्व जल संसाधन मंत्री हुकुमसिंह कराड़ा ने शहर कांग्रेस अध्यक्ष एवं मोहर्रम कमेटी के सदर बाबू खान खरखरे को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कही। गतदिनों इंसानियत की मूरत श्री खरखरे का इंतकाल हो गया था, जिसके बाद से पूरे जिले में शोक व्याप्त है। शुक्रवार को एबी रोड स्थित राधा गार्डन में श्री खरखरे को श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए सभा का आयोजन किया गया। श्रद्धांजलि कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पूर्व मंत्री श्री कराड़ा ने कहा कि जब भी इंसानियत और भाईचारे की बात आएगी तो श्री खरखरे और उनके आदर्शों को याद किया जाएगा। श्री खरखरे किसी एक समाज के नही, बल्कि वे सर्वधर्म के लोकप्रिय नेता थे। कराड़ा ने कहा कि मरहुम बाबू खान खरखरे किसी एक धर्म के लिए बंधकर काम नही करते थे, वे हमेशा मानव सेवा के लिए काम करते थे और इसी कारण उनका हर धर्म का व्यक्ति सम्मान के साथ नाम लेता है। श्रद्धाजंलि सभा को शहर काजी एहसानउल्लाह ने कहा कि खरखरे का इस तरह से चला जाना एक बड़ी क्षति है जिसकी भरपाई कभी नही की जा सकेगी। कावड़ यात्रा संघ के संतोष जोशी ने कहा कि श्री खरखरे भाईचारे की अनूठी मिसाल रहे हैं। उनके कुशल मार्गदर्शन के कारण शहर में हर संप्रदाय के धार्मिक आयोजन शांति और सद्भाव के साथ संपन्न होते रहे हैं। ईद की मिठास हो या फिर दीपोत्सव की रोशनी, या फिर होली का रंग हो, सभी में खरखरे की शिरकत हमेशा इंसानियत का पैगाम देती रही है। उनके आदर्श हमेशा याद रहेंगे।
मगरिया को किया खरखरे चौराहा
श्रद्धांजलि सभा के दौरान पूर्व मंत्री कराड़ा ने नगरपालिका से अनुरोध किया कि वे मगरिया चौराहा का नाम बदलकर उसका नाम खरखरे चौराहा करें। साथ ही मानव सेवा के लिए हमेशा कार्य करते रहने वाले श्री खरखरे की एक प्रतिमा भी चौराहे पर लगाई जाए, ताकि युगों-युगों तक खरखरे के आदर्शों को याद रखा जा सके। सभा को प्रहलादसिंह टिपानिया, रामवीरसिंह सिकरवार, वीरेंद्रसिंह गोहिल, नरेश कप्तान, बालकृष्ण आर्य, अजबसिंह पंवार, सलीम ठेकेदार, रफीक पेंटर, सरदार मूसा आजम खान, राजेश पारछे, रामू सर्राफ, बंटी बना, अमरसिंह बकानी, इरशाद खान, दीपक निगम, साजिद अली वारसी, चंदरसिंह सेंधव, शोएब मेव सहित शहर के गणमान्य नागरिक मौजूद थे।

मालवा अभीतक की ताजा खबर सीधे पाने के लिए : 
ताज़ा ख़बर पाने के लिए एंड्राइड एप्लीकेशन इनस्टॉल करें :

पुलिस ने केजरीवाल को बीजेपी ऑफिस जाने से रोका, वापस लौटे AAP कार्यकर्ता, विरोध प्रदर्शन खत्म     |     स्वाति मालिवाल केस: केजरीवाल के घर पहुंची दिल्ली पुलिस, इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस किए जब्त     |     शराब की बोतलें, इंजेक्शन और केबल तार से बंधे हाथ…कमरे में अस्पताल कर्मचारी का शव मिलने से हड़कंप     |     पश्चिम बंगाल में पीएम मोदी का जोरदार स्वागत, पुरुलिया में सड़क पर उमड़े लोग     |     फूलपुर में राहुल और अखिलेश की रैली में भीड़ हुई बेकाबू, मची भगदड़, कई घायल, बिना बोले निकले दोनों नेता     |     AAP को खत्म करने के लिए बीजेपी ने बनाए तीन प्लान… केजरीवाल ने पीएम पर भी बोला हमला     |     शिवपुरी में कलेक्ट्रेट परिसर में लगी भीषण आग, कई फाइलें जलकर हुई राख..     |     शाजापुर में अनियंत्रित होकर पलट गई जीप, दो महिलाओं की दर्दनाक मौत…     |     Nursing की छात्रा ने रेता अपना गला, कॉलेज प्रबंधन पर लगाए यह गंभीर आरोप, जानिए क्या है पूरा मामला…     |     प्यास इंसान को ही नहीं, पशु पक्षियों को भी लगती है, इंदौर में पंक्षियों के लिए किया जा रहा दाना पानी का अनोखा प्रयोग     |    

Don`t copy text!
पत्रकार बंधु भारत के किसी भी क्षेत्र से जुड़ने के लिए सम्पर्क करें