गोधरा सेंटर के धंधेबाजों का ‘गंदा पेपर’ लीक, अब तक 6 गिरफ्तार, कहां तक पहुंची CBI जांच?

देश में मई में हुई राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा-स्नातक (NEET-UG) परीक्षा में धांधली के मामले कई राज्यों से लगातार सामने आ रहे हैं. पेपर लीक मामले की जांच में जुटी सीबीआई ने गुजरात से एक और आरोपी को गिरफ्तार किया है. यह नई गिरफ्तारी गोधरा में हुई जहां के एक निजी स्कूल के मालिक को पकड़ा गया.

पंचमहल जिले में गोधरा के निकट स्थित जय जलाराम स्कूल के मालिक दीक्षित पटेल को सीबीआई ने कल रविवार को गिरफ्तार कर लिया. पटेल की गिरफ्तारी के साथ ही राज्य में अब तक इस मामले में गिरफ्तार किए गए लोगों की संख्या 6 हो गई है. इनमें से 5 को गुजरात पुलिस ने हिरासत में लिया. पटेल के जय जलाराम स्कूल भी उन निर्धारित परीक्षा केंद्रों में से एक था जहां 5 मई को नीट-यूजी परीक्षा आयोजित की गई थी.

27 अभ्यर्थियों से मांगे गए 10-10 लाख

लोक अभियोजक राकेश ठाकोर ने बताया कि जय जलाराम स्कूल के मालिक दीक्षित पटेल को उनके आवास से गिरफ्तार किया गया. सीबीआई अब पटेल को रिमांड पर लेने के लिए अहमदाबाद ले जा रही है. उन्होंने बताया, “पेपर लीक मामले को गुजरात सरकार की ओर से भी सीबीआई को सौंप दिया गया है, ऐसे में सीबीआई की एक टीम उन्हें (दीक्षित पटेल) अहमदाबाद में एक कोर्ट में पेश करेगी ताकि उनकी रिमांड हासिल की जा सके.”

पटेल इस केस में गिरफ्तार किया गया छठा आरोपी है. इन आरोपियों की ओर से कम से कम 27 अभ्यर्थियों से परीक्षा में पास कराने में मदद के लिए 10-10 लाख रुपये की कथित तौर पर मांग की गई थी. पटेल के अलावा पंचमहल पुलिस ने 5 अन्य लोगों में गिरफ्तार किया था. गिरफ्तार लोगों में वडोदरा के शिक्षा सलाहकार परशुराम रॉय, जय जलाराम स्कूल के प्रिंसिपल पुरुषोत्तम शर्मा, स्कूल टीचर तुषार भट्ट और कथित बिचौलिए विभोर आनंद तथा आरिफ वोहरा शामिल हैं.

जय जलाराम स्कूल को केंद्र चुनने की सलाह

सीबीआई ने पेपर लीक मामले की जांच एक हफ्ते पहले ही शुरू की थी. उसने परशुराम रॉय को छोड़कर 4 अन्य आरोपियों की हिरासत मांगी थी. गोधरा जिला अदालत ने पिछले हफ्ते शनिवार को पुरुषोत्तम शर्मा, तुषार भट्ट, विभोर आनंद और आरिफ वोहरा को 2 जुलाई तक सीबीआई की हिरासत में भेज दिया.

फिलहाल सीबीआई की शुरुआती जांच में यह बात सामने आई है कि इन आरोपियों ने नीट-यूजी में ज्यादा अंक हासिल करने के लिए गलत तरीका अपनाने को तैयार छात्रों से जय जलाराम स्कूल को परीक्षा केंद्र के रूप में चुनने के लिए कहा था.

27 में से 3 छात्र ही पास कर पाए परीक्षा

गुजरात पुलिस का यहां तक कहना है कि आरोपियों ने कथित तौर पर अभ्यर्थियों से कहा था कि अगर उन्हें किसी सवाल का उत्तर नहीं पता है तो वे उसका जवाब देने की कोशिश न करें. जांच में यह बात सामने आई है कि भौतिकी के टीचर भट्ट ने परीक्षा के बाद स्कूल परिसर में ही रहते हुए पेपर पर सही उत्तर लिख दिए.

इस बीच सीबीआई की ओर से जांच में तेजी लाते हुए शनिवार को 7 स्थानों पर रेड डाली गई. हालांकि जिन 27 छात्रों ने पेपर लीक के लिए या तो एडवांस पेमेंट कर दिया या फिर रॉय और अन्य को पैसे देने को राजी हो गए थे, उनमें से केवल 3 ही छात्र पासिंग नंबर के साथ परीक्षा पास करने में सफल रहे थे, जबकि शेष 23 नाकाम रहे थे.

मालवा अभीतक की ताजा खबर सीधे पाने के लिए : 
ताज़ा ख़बर पाने के लिए एंड्राइड एप्लीकेशन इनस्टॉल करें :

धार में आकाशीय बिजली गिरने से तीन बच्चों की मौत, एक घायल     |     राजस्व महाअभियान का दूसरा चरण 18 जुलाई से शुरू, CM अधिकारियों को दिए ये निर्देश     |     रेलवे स्टेशन की छत का प्लास्टर झड़कर यात्री पर गिरा, फटा सिर, गंभीर हालत में अस्पताल भर्ती     |     PM कॉलेज ऑफ एक्सीलेंस के ID कार्ड में छात्रों की जाति पूछने पर बवाल…कांग्रेस बोली- पहले धर्म अब जाति के नाम पर बांट रही भाजपा     |     विजयपुर विधानसभा सीट पर उपचुनाव से पहले बड़ी हलचल, कांग्रेस के संपर्क में ये भाजपा नेता     |     इंदौर से रुठे इंद्र देव को मनाने की कोशिश… सुमित्रा महाजन ने इंद्रेश्वर मंदिर में की विशेष पूजा     |     अस्पताल की छत का भरभराकर गिरा प्लास्टर, ड्यूटी कर रही महिला कर्मचारी घायल     |     MP के छतरपुर में होती है रावण की पूजा, 80 साल के रिटायर्ड शिक्षक ने घर में ही बनाया मंदिर     |     युवक की हत्या कर शव को खंडहर में फेंका, पुलिस और FSL टीम जांच में जुटी     |     MP महिला कांग्रेस की बड़ी बैठक, राष्ट्रीय अध्यक्ष अलका लांबा ने बीजेपी सरकार को जमकर घेरा     |